*/ spiritual
Polly po-cket
Welcome To My Website
Date: January 12, 2017 Time: 12 : 00: 00:

अध्यात्म क्या है ?

मानव जो अपने आप को अर्थात्‌ आत्मा को अध्ययन करने की विषय को अध्यात्म कहा जाता है

जीवन मेँ अपने माता-पिता का सेवा करना आपका परम धर्म ही नहीँ कर्त्वय है जो हमलोगोँ को करना नितांत जरुरी है । तब ही आगे उन्नति कर सकोगेँ

अध्यात्म एक दर्शन है , चिंतन-धारा है , विद्या है | अधयात्म का अर्थ यह है कि अपने भीतर के चेतन तत्व को जानना , मानना और मनन करना अर्थात् अपने आप के बारे में जानने का प्रयास करना कि मैं कौन हु और धरती पर क्यों जन्म लिया के कारन था कि मुझे जन्म लेना पड़ा? गीता ज्ञान के आठवे अध्याय में अपने स्वरूप को ही अध्यात्म कहा गया है अर्थात् जीवात्मा को ही अध्यात्म कहा गया है :
" परम स्वभवोअध्यात्म्मुच्यते "

Today Visitors:3
Website Security Test
  
 Likes: 1749
 Dislikes: 25
 Total Votes: 1774

वेबसाईट मेँ खोँजे

यंत्र विवरण :

CCBot/2.0

आई॰ पी॰ पता :

ec2-54-196-135-90.compute-1.amazonaws.com

ब्राउज़र छवि :

Unknown

ऑपरेटिँग सिस्टम विवरण :

CCBot/2.0 (http://commoncrawl.org/faq/)

आपका देश :

United States United States

समय तथा तिथि :

17-01-18 08:42:57

फिडबैक उपयोग की शर्तेँ
© 2016 spiritual